किन्नरों (हिजड़ा) के बारे में रोचक तथ्य – Facts about Kinnar Hijra in Hindi

किन्नर समुदाय समाज से अलग रहता है और इसी वजह से हर कोई उनके जीवन और रहन-सहन को जानना चाहता हैं। ग्रंथो में भी किन्नरों का वर्णन मिलता हैं। किन्नरों की शव यात्रा बहुत गुप्त होती हैं। भारत में लगभग 5 लाख किन्नर है तो आइये जानते है किन्नरों (हिजड़ो) से जुड़े कुछ रोचक तथ्य..

kinnar hijra किन्नर हिजड़ा

15 facts about Kinnar Hijra in Hindi – किन्नरों (हिजड़ा) के बारे में रोचक तथ्य

1. ज्योतिष के अनुसार ऐसा माना जाता है कि वीर्य की अधिकता से बेटा (पुत्र) पैदा होता है और रज (रक्त) की अधिकता से स्त्री (कन्या) पैदा होती है, लेकिन वीर्य और रक्त की समान मात्रा से किन्नर पैदा होता हैं।

2. अज्ञातवास के दौरान अर्जुन एक वर्ष तक किन्नर वृहन्नला बनकर रहा था। इस दौरान अर्जुन ने उत्तरा को नृत्य और गायन की शिक्षा भी दी थी।

3. फ़िलहाल देश में किन्नरों की चार देवियाँ हैं।

4. ऐसा माना जाता है कि ब्रह्माजी की छाया से किन्नरों की उत्पत्ति हुई हैं।

5. आज भी गुरु शिष्य जैसी प्राचीन परम्परा किन्नर समुदाय में हैं।

6. किन्नर समुदाय के लोग स्वयं को मंगल मुखी मानते है इसलिए ये केवल मांगलिक कार्यो में हिस्सा लेते है मातम में नहीं। इसलिए ये मांगलिक और शुभ कार्यो में ही आते है शोक या मातम में नहीं।

7. किन्नर अथवा हिजड़े अपने समुदाय में किसी को शामिल करने से पहले अपने रीति-रिवाजों का पालन करते हैं। नए सदस्य को शामिल करने से पहले नाच-गाना और सामुहिक भोज होता हैं।

8. किन्नरों की दुनिया का एक ख़ौफ़नाक सच यह भी है कि यह समाज ऐसे लड़को की तलाश करता है जो दिखने में अच्छा हो और ऊँचा उठने के ख्वाब देखता हैं। यह समुदाय उससे नजदीकी बढ़ाता है और फिर मौका देखकर उसे बधिया कर देते हैं। बधिया मतलब उसके शरीर के उस अंग को काट देते है जिससे वह कभी लड़का नहीं रहता।

9. आपको जानकर हैरानी होगी कि किन्नरों का भी विवाह होता हैं। इनका विवाह इनके अराध्य देव अरावन से होता है। वो भी मात्र एक दिन के लिए क्योंकि अगले दिन अरावन देवता की मौत हो जाती हैं और इसी के साथ इनका वैवाहिक जीवन खत्म हो जाता हैं।

10. किन्नरों की बद्दुआ नहीं लेनी चाहिए क्योंकि ये हमेशा दुखी ही रहते है तो दुखी दिल की बद्दुआ लगना स्वभाविक हैं।

11. लोगो का मानना है कि किन्नरों (हिजड़ो) से एक रूपया लेकर अपने पास रखने से धन लाभ होता हैं।

12. किन्नरों की शव यात्रा रात के समय निकाली जाती हैं।

13.किन्नरों की जब मौत होती है तो इसे किसी दूसरे समुदाय को नहीं दिखाया जाता हैं। ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने पर वह अगले जन्म में भी किन्नर पैदा होगा।

14. किन्नर मुर्दे को जलाते नहीं बल्कि दफ़नाते हैं।

15. किसी की मौत के बाद किन्नर समुदाय एक हफ़्ते तक भूखा रहता हैं।

Note:- kinnar hijra में दी गई Information अच्छी लगी तो कृपया इसे शेयर करें।
kinnar hijra में कोई गलती रह गई तो हमें कमेंट कर के बताये हम इसे update करते रहेंगे।

ये पढना ना भूले:

Related Posts:

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: सामग्री संरक्षित है !!